शनिवार, 5 जून 2010

बात एकअनकही सी........4

एक और संकल्प का दिवस..........विश्व पर्यावरण दिवस--५ जून

आज विश्व पर्यावरण दिवस है जिसकी होता है कि कोई भी दिवस जब मनाया जाता है तो उस दिन अपने आप से तरह-तरह के वायदे करते हैं। सभाएं होती हैं, बहुचर्चित व्यक्तित्वों से जलसे सजाए जातें हैं और उक्त दिवस को सार्थक करने की बातें की जाती हैं। मिडिया में वाही-वाही की दुदुम्भी पिटती है, और समाचार , टी.वी चैनलों में सारा दिन ऐसी ख़बरों को जी भर के उछाला जाता है और दिन के ढलते ढलते ही ये कोलाहल थमने लगता है और रत आते आते और दूसरा दिन चढ़ते-चढ़ते बीते दिन एन जितने वायदे और संकल्पों के सूरज चढ़े होते हैं वो जाने कहाँ अस्त हो जाते हें पता ही नहीं चलता आज विश्व पर्यावरण दिवस है आज भी यही होगा, आजकल एक नारा बुलंद हो चला है, "पर्यावरण मित्र" याने "eco-friendly " होगा, आप जो भी खायेंगे ,पहनेंगे या फिर ओढेंगे, बिछायेंगे सब "eco-friendly " होगा और प्रयावरण की जो भी समस्या होगी वह सुलझ जाएगी फिर भी वाकई कुछ करना चाहते हें तो जो बहुत जरुरी है वो है................... * प्राकृतिक वनों का संरक्षण अर्थात अब दुनिया में जितने भी प्रतिशत जंगल बचें हैं उन्हें यथास्थिति रखा जाये, यह कठिन जरुर ही पर असंभव नहीं विकास के नाम पर जंगलों की जो अंधाधुंध कटाई हो रही और जंगलों की बलि ली जा रही है उसे रोका जायेजंगले की इंच उर्वरा जमीन का निर्माण लगभग 1000 सालों के बाद होता है * जंगल वर्षा के वाहक हैं और carbon-di-oxide तथा oxygen का संतुलन केवल वनों के अस्तित्व पर ही निर्भर करता है *विषैली गैसों का उत्सर्जन कासे कम हो थाभी ग्रीन हाउस का प्रभाव कम किया जा सकता हैवाहनों का उपयोग केवल आवश्यकता पड़ने पर करे और इस दिखावे का सामान बनाये तो हम अपने हिस्से की जिमेदारी एक नागरिक की तरह कर सकते हैं * अपने आस अस पेड़ पौधे लगाये हरियाली को पर्याप्त मात्र में प्रश्रय दें * कागज के लिए जंगलों को जिस अंदाज से कटा जा रहा है ये केवल समाचार पत्रों की प्रतिस्पर्धा का ही नतीजा है, इसे रोकना होगा और इसका एक ही विकल्प है समाचार पत्र * अपने आप से वायदा करीं की जहाँ तक हो सकेगा पोलीथिन या प्लास्टिक का बिलकुल भी इस्तेमाल नहीं करंगे, इसके स्थान पर कपडे या जुट के देब का इस्तेमाल करना हैप्लास्टिक और पोइल्थिन को कें एक नारा यद् रखें..........."जंगल हमारा जीवन है, इसे हमें बचाना है॥"........... यदि इस और केवल एक कदम भी आपने बढाया तो और भी कदम आपके साथ होंगे.

1 टिप्पणी:

  1. पर्यावरण दिवस संकल्प लेने का दिन है कि हम पर्यावरण की हिफाजत करेंगे।

    उत्तर देंहटाएं

Ads Inside Post